ज्ञानवापी परिसर से 1868 में ब्रिटिश फोटोग्राफर सैमुअल बॉर्न द्वारा खींची गई 154 साल पुरानी दुर्लभ तस्वीरें मिली है.

Gyanvapi: 1868 में क्लिक की गई ज्ञानवापी परिसर की दुर्लभ तस्वीरें, यहां देखें

Gyanvapi: 1868 में क्लिक की गई ज्ञानवापी परिसर की दुर्लभ तस्वीरें, यहां देखें

बाबा काशी विश्वनाथ मंदिर और वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद का मामला तब सुर्खियों में आया जब दावा किया गया कि मस्जिद के वजूखाना में एक शिवलिंग पाया गया है.

Gyanvapi: 1868 में क्लिक की गई ज्ञानवापी परिसर की दुर्लभ तस्वीरें, यहां देखें

वाराणसी की जिला अदालत ज्ञानवापी-शृंगार गौरी मामले (संख्या -693/2021 राखी सिंह बनाम यूपी सरकार और अन्य) की सुनवाई कर रही है.

Gyanvapi: 1868 में क्लिक की गई ज्ञानवापी परिसर की दुर्लभ तस्वीरें, यहां देखें

जिला जज अजय कुमार विश्वेश की कोर्ट में पहली बार केस की ओपनिंग होगी और मामले की सुनवाई भी रोजाना हो सकेगी क्योंकि सुप्रीम कोर्ट ने जिला कोर्ट को 8 हफ्ते में सुनवाई पूरी करने का निर्देश दिया है.

1. ज्ञानवापी परिसर की 154 साल पुरानी दुर्लभ तस्वीर चल रहे मामले के बीच इस संबंध में एक नया घटनाक्रम सामने आया है. खास जांच में दुर्लभ तस्वीर सामने आई है, जिसके बारे में कहा जा रहा है कि यह ज्ञानवापी मस्जिद के नीचे बने बेसमेंट की दीवार का हिस्सा है.

2. 1868 में ब्रिटिश फोटोग्राफर सैमुअल बॉर्न द्वारा क्लिक की गई तस्वीर ज़ी न्यूज़ का दावा है कि ज्ञानवापी परिसर की 154 साल पुरानी एक दुर्लभ तस्वीर मिली है, जो हिंदू पक्ष द्वारा किए जा रहे दावों के पीछे की सच्चाई को उजागर कर रही है. साल 1868 में ब्रिटिश फोटोग्राफर सैमुअल बॉर्न द्वारा क्लिक की गई एक तस्वीर सामने आई है.

Green Soul Mates

3. ज्ञानवापी परिसर में नंदी और भगवान हनुमान की मूर्तियां तस्वीर से साफ पता चलता है कि उस दौर में ज्ञानवापी मस्जिद परिसर कैसा दिखता था. इस तस्वीर में नंदी और भगवान हनुमान की मूर्तियों के साथ ज्ञानवापी परिसर में मौजूद खंभों पर हिंदू कलाकृतियां और घंटियां दिखाई दे रही हैं.

4. ज्ञानवापी मस्जिद में हिंदू प्रतीकों और देवी-देवताओं की मूर्तियां इस नए विकास के साथ, यह स्पष्ट है कि भगवान शिव के 11वें रुद्रावतार हनुमान भी ज्ञानवापी परिसर में विराजमान हैं. इसलिए, यह तस्वीर हिंदू पक्ष के दावों की पुष्टि करती है कि ज्ञानवापी मस्जिद परिसर में हिंदू प्रतीकों और देवी-देवताओं की मूर्तियां मौजूद हैं.

5. तस्वीर अमेरिका के ह्यूस्टन में 'द म्यूजियम ऑफ फाइन आर्ट्स' में संरक्षित है इससे पहले हिंदू पक्ष ने मां श्रृंगार गौरी की मौजूदगी का सबूत देते हुए साल भर यहां मां श्रृंगार की पूजा की मांग की थी. ज़ी न्यूज़ के सूत्रों का कहना है कि यह तस्वीर अमेरिका के ह्यूस्टन में 'द म्यूज़ियम ऑफ़ फाइन आर्ट्स' में संरक्षित है और यह ज्ञानवापी परिसर पर हिंदू पक्ष के दावों को भी पुष्ट करती है.