पाकिस्तान के खिलाड़ी इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में नहीं खेलते हैं. हालांकि ऐसा भी समय था जब पाकिस्तान के कई दिग्गज खिलाड़ी दुनिया की सबसे मशहूर टी20 लीग का हिस्सा थे.  आईपीएल के पहले सीजन साल 2008 में इन खिलाड़ियों का जलवा देखने को मिला था. लेकिन 2008 मुंबई आतंकी हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के संबंधों में कड़वाहट आई, जिसका असर क्रिकेट पर भी पड़ा.

Arrow

2008 में मुंबई आतंकी हमले को पाकिस्तान स्थित एक आतंकवादी संगठन ने अंजाम दिया था. इसके परिणामस्वरूप कई राजनीतिक दलों ने इंडियन प्रीमियर लीग में पाकिस्तानी खिलाड़ियों की भागीदारी के खिलाफ आवाज उठाई .बाद में बीसीसीआई ने पाकिस्तानी खिलाड़ियों को इंडियन प्रीमियर लीग में भाग लेने से रोक दिया और फ्रेंचाइजी ने भी पाकिस्तानी क्रिकेटरों को अपनी टीम में शामिल करने में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई.  इसलिए, पाकिस्तान के क्रिकेटर केवल आईपीएल के एक सीज़न में भाग लेने में सफल रहे. यहां हम आपको पाकिस्तान के क्रिकेटरों के बारे में बताएंगे जो आईपीएल में खेल चुके हैं

 पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर आईपीएल 2008 में खेले थे. शोएब अख्तर कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए खेले थे उन्होंने 3 मैच खेले जिसमें उन्होंने 5 विकेट लिए. उनकी 7.71 की इकॉनमी थी. दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ मैच में उनकी शानदार गेंदबाजी आईपीएल फैंस के बीच आज भी ताजा है.

शोएब मलिक पाकिस्तान के एक और क्रिकेटर हैं जो आईपीएल में खेले हैं. आईपीएल 2008 में शोएब मलिक दिल्ली कैपिटल्स का हिस्सा थे. पाकिस्तान के पूर्व कप्तान ने 7 मैच खेले और 52 रन बनाए थे,   दाएं हाथ के बल्लेबाज मलिक का औसत 13 और स्ट्राइक रेट 110+ था. उनका उच्चतम स्कोर 24 था, जिसे उन्होंने मुंबई इंडियंस के खिलाफ बनाया था. मलिक ने आईपीएल 2008 में खेले गए 7 मैचों के दौरान 5 कैच भी लिए.

 मिस्बाह-उल-हक भी आईपीएल 2008 का हिस्सा थे. दाएं हाथ के बल्लेबाज इंडियन प्रीमियर लीग के पहले संस्करण में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए खेले थे.  मिस्बाह ने 8 मैच खेले जिसमें उन्होंने 117 रन बनाए. उनका औसत 16+ और स्ट्राइक रेट 144+ था. मिस्बाह ने आईपीएल 2008 में दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ मैच में नाबाद 47 रनों की शानदार पारी खेली थी.

पूर्व पाक तेज गेंदबाज सोहेल तनवीर भी आईपीएल 2008 का हिस्सा थे. सोहेल तनवीर राजस्थान रॉयल्स का हिस्सा थे और उन्होंने खिताब जीतने के लिए अपनी टीम के लिए एक प्रमुख भूमिका निभाई थी,   तनवीर आईपीएल 2008 में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज थे और उन्होंने पर्पल कैप जीती थी. 

पूर्व पाक क्रिकेटर शाहिद अफरीदी भी आईपीएल 2008 का हिस्सा थे. अफरीदी इंडियन प्रीमियर लीग के पहले सीजन में डेक्कन चार्जर्स के लिए खेले थे, पाकिस्तान के पूर्व कप्तान अफरीदी ने 10 मैच खेले और 9 पारियों में 81 रन बनाए थे

पाकिस्तान के पूर्व ओपनर सलमान बट भी केकेआर की तरफ से आईपीाएल में खेल चुके हैं। सलमान ने कोलकाता के लिए 7 मैच खेले जिसमें उन्होंने 193 रन बनाए थे।

पाकिस्तान के तेज गेंदबाज मोहम्मद आसिफ को दिल्ली ने अपनी टीम में शामिल किया था। आसिफ ने दिल्ली की ओर से 8 मैच खेले।  वह आईपीएल के दौरान डोपिंग के दोषी पाए गए थे, जिसके बाद उन पर पीसीबी ने 1 साल का बैन लगाया था। आसिफ ने आईपीएल में 8 मैचों में 8 विकेट लिए थे।

कोलकाता ने अपनी टीम में तेज गेंदबाज उमर गुल को भी शामिल किया था। उमर गुल उस समय दुनिया के नंबर एक टी20 गेंदबाज थे।  लगातार चोटों की वजह से उमर गुल आईपीएल के 6 मैच ही खेल सके थे। उन्होंने 6 मैचों में 12 विकेट चटकाए थे

पाकिस्तान के शानदार बल्लेबाजों में से एक यूनुस खान को राजस्थान रॉयल्स ने अपनी टीम में लिया था।  यूनुस को आईपीएल में सिर्फ एक मैच खेलने का मौका मिला, जोकि रॉजस्थान रॉयलस का आखिरी लीग मैच था। उन्होंने इस मैच में दो रन बनाए थे।

 पाकिस्तान के विकेटकीपर बल्लेबाज कामरान अकमल राजस्थान रॉयलस टीम का हिस्सा थे।  कामरान को टीम में तब ही मौके मिले जब कोई इंटरनेशनल प्लेयर चोटिल हुआ। कामरान ने 6 मैच खेले, जिसमें उन्होंने एक अर्धशतक की मदद से 128 रन बनाए।

. पाकिस्तान के ऑलराउंडर मोहम्मद हफीज भी केकेआर की टीम में खेलने वाले चौथे पाकिस्तानी खिलाड़ी हैं।  हफीज ने कोलकाता के लिए 8 मैच खेले। इसमें उन्होंने 64 रन बनाने के साथ 2 विकेट झटके थे।